Kamalanjali


Kamalanjali

Kamalanjali(hard cover)

Author : Pyare Singh Yadav Shishu
Publisher : Uttkarsh Prakashan

Length : 96Page
Language : Hindi

List Price: Rs. 150

Discount Price Rs. 120

Selling Price
(Free delivery)





‘कमलांजलि’- वियोग श्रृंगार की एक अद्भुत काव्य कृति प्रस्तुत पुस्तक कमलांजलि के रचयिता श्री प्यारे सिंह यादव ‘शिशु’ जी हैं जो वर्तमान में बदायूँ जनपद के ओज के वरिष्ठतम कवि हैं। आप राजकीय इण्टर काॅलेज, बदायूँ से शिक्षक के पद से सेवानिवृत्त हैं। आप भारत स्काउट एण्ड गाइड संस्था में विभिन्न पदों पर रहकर लगभग चालीस वर्षों तक समाज सेवा का कार्य कर चुके हैं। आपने तथा आपकी पत्नी ने यादव समाज कल्याण समिति, बदायूँ के लिए एक भूखण्ड दान में दिया जिसमें छात्रावास का निर्माण कार्य चल रहा है। आपकी पत्नी का एक लम्बी बीमारी के बाद 14 सितम्बर 2008 में निधन हो गया। आपने अपनी पत्नी की स्मृति में बदायूँ मण्डी समिति के पीछे एक मन्दिर (बम भोले शिवालय) का भी निर्माण कराया है जहाँ साधु-सन्त आते रहते हैं। वहाँ उनके ठहरने तथा भोजन की व्यवस्था भी की जाती है। ‘शिशु’ जी ने प्रस्तुत पुस्तक कमलांजलि में अधिकांश रचनायें अपनी पत्नी के वियोग में लिखी हैं। आपकी रचनाओं में भाव पक्ष की प्रधानता है। रचनायें इतनी मार्मिक हैं कि पाठकगण पढ़ते-पढ़ते भावुक हो जाते हैं। इस पुस्तक से पूर्व आपकी एक और पुस्तक ‘वीरांजलि’ के नाम से प्रकाशित हो चुकी है जिसमें आपकी अधिकांश रचनायें वीर रस की हैं जो पाठक को आपकी राष्ट्रभक्ति से रू-ब-रू कराती हैं। आप इतने संवेदनशील एवं भावुक व्यक्ति हैं कि कविता पढ़ते-पढ़ते आपकी आँखों में आँसुओं का सैलाब आ जाता है। ‘शिशु’ जी मेरे शैक्षिक गुरु रहे हैं। आप मुझे अपने बेटों जैसा ही स्नेह देते हैं। जब आपने मुझे अपनी इस पुस्तक के सम्पादन का कार्य सौंपा तो मुझे बहुत प्रसन्नता हुई और मैंने अपना सौभाग्य समझते हुए उक्त पुस्तक के सम्पादन का कार्य सम्पन्न किया।

Specifications of Kamalanjali (Hard Cover)

BOOK DETAILS

PublisherUttkarsh Prakashan
ISBN-10978-93-84236-33-5
Number of Pages96
Publication Year2016
LanguageHindi
ISBN-13978-93-84236-33-5
Bindinghard cover

© Copyrights 2017. All Rights Reserved Uttkarsh Prakashan

Designed and Developed By: ScripTech Solutions