Charu Chinmey Choka


Charu Chinmey Choka

Charu Chinmey Choka(hardcover)

Author : Pradeep Kumar Das 'deepak'
Publisher : Uttkarsh Prakashan

Length : 316Page
Language : Hindi

List Price: Rs. 600

Discount Price Rs. 540

Selling Price
(Free delivery)



हाइकु, ताँका, रेंगा, चोका व सेवोका की विधाएँ हिन्दी काव्य साहित्य में लोकप्रिय विधाओं के रूप में प्रतिष्ठित हो चुकी हैं। हाइकु आकारगत संक्षिप्तता के कारण संसार की सबसे छोटी कविता के रूप में प्रसिद्ध है, तो रेंगा व चोका आकारगत लंबी कविताओं के रूप में प्रसिद्ध हैं। हाइकु, ताँका, चोका, सेदोका एवं रेंगा इन सभी विधाओं के शिल्प में 5,7,5 वर्णक्रम की ही प्रधानता रही है, अंतर केवल लंबाई का ही है। हिन्दी में इन विधाओं की गरिमा सिद्ध है कि इनके आगमन से हिन्दी कविता की विविधता में समृद्धि आई है तथा कथ्य और शिल्प दोनों दृष्टि से हिन्दी काव्य साहित्य दिशा की ओर बढ़ने लगा है। हिन्दी काव्य परंपरा में इन विधाओं का स्थान महत्वपूर्ण है। शिल्प की दृष्टि से चैका की पंक्तियों में क्रमशः 5 और 7 वर्णों की आवृत्ति होती है तथा अंतिम पाँच पंक्तियों में 5,7,5,7,7 वर्णक्रम अर्थात एक ताँका के क्रम से कविता पूर्ण होती है। कविता की लंबाई की सीमा रचनाकार की भाव पूर्णता पर निर्भर रहती है। 316 पृष्ठों की इस काव्य पुस्तक में 50 प्रतिष्ठित रचनाकारों के  हाइकु, ताँका, रेंगा, चोका व सेवोका दिये गये हैं

Specifications of Charu Chinmey Choka (Hardcover)

BOOK DETAILS

PublisherUttkarsh Prakashan
ISBN-109-38-815576-9
Number of Pages316
Publication Year2019
LanguageHindi
ISBN-13978-93-88155-76-2
Bindinghardcover

© Copyrights 2019. All Rights Reserved Uttkarsh Prakashan

Designed By: Uttkarsh Prakashan